What is Computer in Hindi? – Codex Edu

0
64
what is computer

आज के दौर में कम्प्युटर हमारी जिंदगी का बहुत ही अहम हिस्सा बन चुका है. घर से लेकर स्कुल और स्कूल से लेकर ऑफिस तक में इसका इस्तेमाल रोजाना किया जा रहा है. छोटे से लेकर बड़े बिज़नेस तक इसका इस्तेमाल किया जा रहा है तो अगर आप भी जानना चाहते है की कंप्यूटर क्या है इसका क्या उपयोग है इसे कैसे इस्तेमाल किया जाता है हमारे ज़िंदगी में तो आप लोग एक सलाह मानिये हम सभी को अच्छी तरह से कम्प्युटर को जानना जरुरी है आपको मैं बता दूं कि इसे चलाने से पहले आपको इसके बारे में जानकारी लेना बहुत जरूरी है कि आखिर में बेसिक कंप्यूटर क्या है इन हिंदी और पहली बार इसे किसने और इसकी रचना कब की गई थी? तो आइये हम सब जानते है कंप्यूटर के बारे में

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण या इसे मशीन भी बोलै जाता है Computer एक अंग्रेजी शब्द है. जिसका हिंदी में मतलब (Computer Meaning in Hindi) “गणना” होता है. यह एक ऐसा मशीन है जिसमें हम इनपुट डिवाइस के द्वारा डाटा को कंप्यूटर में देते हैं और फिर उसे वह प्रोसेस करता है और हमें आउटपुट डिवाइस के द्वारा इसका परिणाम दिखाई देता है

यह एक ऐसा आधुनिक यंत्र है जो अपने काम को बहुत तेज़ी और आसानी से करता है कंप्यूटर को अच्छे से काम करने के लिए ऐसे हार्डवेयर और सॉटवारे की ज़रूरत होती है अगर हम इसे सीधे से भाषा में कहे तो यह एक दुसरे के बिना अधूरा है जैसे की इंसान सांस के बिना.

कंप्यूटर के (हार्डवेयर भाग ) सीपीयू से कई तरह के हार्डवेयर आपसे में जुडे होते हैं, इन सब के बीच जो आपस में बनाकर कंप्यूटर को ठीक प्रकार रूप से चलाने का काम करता है वह है सिस्टम सॉफ्टवेयर इसे हम ऑपरेटिंग सिस्टम भी कहते है.

वैसे तो इसका डेफिनेशन ही इतना बड़ा हम लिख सकते है जो पूरे पेज को भर देगा लेकिन यह जो ऊपर की जानकारी है वह बिलकुल सटीक और कम शब्दो में बताया है हमने आपको.

कंप्यूटर का फुल फॉर्म

full form of computer

कंप्यूटर का इतिहास

कंप्यूटर के जनक कौन है और इन्हे हम फादर्स ऑफ़ कंप्यूटर क्यू कहते है

चार्ल्स बैबेज जो एक महान ब्रिटिश गणितज्ञ थे इनका जन्म 26 नवंबर 1791 को हुआ था इन्होने 1837 में एनालिटिकल इंजन के रूप में दुनिया के सामने लाये जिसके बाद इन्हे कंप्यूटर का पिता कहने लगे थे वैसे तो Analytical engine में ALU ( Arithmetic and Logic unit), जिसमे basic flow control और integrated memory का प्रयोग किया था. और आजकल के सिस्टम को भी इसी मॉडल के आधार पर बनाये जा रहा है. इसी बजह से इन्हे आज के modern age सिस्टम का जनक कहा जाता है.

history of computer

कंप्यूटर के रूप – Types of computer in Hindi

कंप्यूटर को मुख्य रूप से 3 भाग में बाटा गया है

Analog Computer (एनालॉग कंप्यूटर)
Digital Computer (डिजिटल कंप्यूटर)
Hybrid Computer (हाइब्रिड कंप्यूटर)

Analog Computer

इनका उपयोग हम भौतिक इकाइयों के दाब, तापमान, लंबाई, आदि को मापने में किया जाता है, जो मौसम बिभाग के लोग है वह मौसम विज्ञान की आपको हवा का दबाब, वातावरण में नमी या बारिश कितनी हुई है या आज का सबसे कम या सबसे ज्‍यादा तापमान कितना था इन सबको एक साथ करने के लिये एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer) बनाये गये हैं

Digital Computer

यह एक ऐसा सिस्टम है जिसमे अलग अलग जानकारी को दिखाने के लिए binary digits का इस्तेमाल किया जाता हैं उसे डिजिटल कंप्यूटर कहते हैं. डिजिटल कंप्यूटर में डाटा और प्रोग्राम को 0 और 1 को बायनरी में परिवर्तित करके उसको इलेक्ट्रॉनिक रूप में बनाया जाता है। ये जानकारी को text, picture और graphics के रूप में परिवर्तित करती है.

Hybrid Computer

यह एक ऐसा कंप्यूटर है जो एनालॉग और डिजिटल कंप्यूटर से अधिक खास है इसका काम होता है की एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer) से प्राप्‍त डाटा को डिज़िटल रूप में उपलब्‍ध करना, example चिकित्‍सा, मौसम विज्ञान में इनका सबसे ज्‍यादा प्रयोग किया जाता है यह वैसे जानकारी को दिखाने के लिए उसे किया जाता है जहा analog signal के साथ साथ binary digits को भी समझने के योग्य होते हैं उसे हम Hybrid कंप्यूटर के रूप में जानते हैं.

types of computer

कंप्यूटर कैसे काम करता है (Computer Functions)

कंप्यूटर का काम करने का एक तरीका होता है

इनपुट (Input) → प्रोसेसिंग (Processing) → आउटपुट (Output)

INPUT : सबसे पहले इनपुट के लिए आपको और हमें keyborad और mouse से कुछ टाइप करके हमें बताना होता है यह एक ऐसा स्टेप है जिसे हम raw information को इनपुट डिवाइस इस्तेमाल करके कंप्यूटर में प्रवेश कराया जाता है जिसमे हमे keywords का letter , image , या कोई भी वीडियो इनमे से कुछ भी हो सकता है

Processing : यह एक प्रकिया का दूसरा स्टेप है प्रोसेस के दौरान इनपुट हुए कमांड या डाटा को इंस्ट्रक्शन के निर्देश के अनुसार प्रोसेसिंग करवाया जाता है

Output : यह तीसरा और अंतिम भाग होता है जिसमे आउटपुट के दौरान जो कमांड या डाटा प्रोसेसिंग हो चुकी होती है उसे वह हमें रिजल्ट के रूप में स्क्रीन के ऊपर दिखता है और उसे हमें चाहे तोह अपने मेमोरी में save या store करके भी रख सकते है

how works computer

संक्षेप में

हमें उम्मीद है की कंप्यूटर किसे कहते है हिंदी में समझ गए होंगे जो हमने आपको बताया इस लेख में. अगर फिर भी आपको लगता है की इस लेख में कुछ और जानकारी होनी चाहिए थी तो आप हमे कमेंट बॉक्स में सुझाव दे सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here